Home खबरें कुछ हट के समर कैंप काउंसलिंग से बच्चों में जगा दुनिया का सामना करने का आत्मविश्वास

समर कैंप काउंसलिंग से बच्चों में जगा दुनिया का सामना करने का आत्मविश्वास

0 second read
0
4
51

मयूर विहार थाना फेज-1 की युवा परियोजना ने त्रिलोक पुरी, कल्याण पुरी, शशि गार्डन और चिल्ला गाँव क्षेत्र के रहने वाले शोषित बच्चों के लिए एक समर कैंप का आयोजन किया, जिसकी प्रभारी ‘सुधा अय्यर’ द्वारा व्यक्तित्व विकास, अंग्रेजी बोलना, लड़कियों के स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे, मैथ्स ट्यूटोरियल, इंग्लिश ग्रामर, आर्ट, बेस्ट ऑफ वेस्ट, क्रिएटिव इंग्लिश, फस्र्ट ऐड और साइबर क्राइम, एलोपिंग, ड्रग्स आदि विषयों पर कक्षाओं का आयोजन कराया गया।

भारतीय चिकित्सा संघ ने लड़कियों को प्रशिक्षण दिया व इनर व्हील आदि द्वारा सी.पी.आर. टेक्निक्स व कैरियर काउंसलिंग की गयी साथ ही इस समर कैंप में योग कक्षाएं, बैडमिंटन, आत्मरक्षा शिविर का भी आयोजन किया गया और माह अप्रैल 2019 से जून 2019 तक स्वास्थ्य जांचे भी कराई गईं। इस कैम्प में 130 बच्चों ने भाग लिया।

सुधा अय्यर द्वारा कैम्प में कक्षाएं लेने हेतु विभिन्न शिक्षकों जैसे रमा कुमार, एस. ए. खान, पूजा ठाकुर, मिनाक्षी, विजय माथुर, ऐश्वर्या नायर, खालिद, कविता कोली आदि को आमंत्रित किया गया था, जिन्होंने बच्चों को पढ़ाया साथ ही विभिन्न प्रतियोगिता जैसे अंग्रेजी, हिंदी, हस्त लेखन, ड्राइंग का आयोजन कराया। इसके अलावा रोहित कुमार और सनी के सहयोग से न केवल दौड़ प्रतियोगिता आयोजित की गई, बल्कि इन्होंने बच्चों को विभिन्न बलों के लिए पूर्वी विनोद नगर स्टेडियम में प्रशिक्षित भी किया। जामिया से शाजेब और आदिल द्वारा नृत्य प्रशिक्षण दिया गया। 28 जून को कैंप का समापन, सांस्कृतिक कार्यक्रम और पुरस्कार वितरण के साथ हुआ।

ए.सी.पी. सौरभ चंद्रा, एस.एच.ओ. मनोज कुमार शर्मा, ए.टी.ओ. राम निवास भाटी ने विजेताओं को पुरस्कार दिए। दिल्ली पुलिस के युवा परियोजना के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

ए.सी.पी. सौरभ चंद्रा ने छात्रों से बातचीत की और उनसे पूछा कि मयूर विहार पुलिस स्टेशन में आयोजित समर कैंप में भाग लेने से उन्हें क्या लाभ हुआ? जिस पर बच्चों ने उत्तर देते हुए बताया कि उन्होंने इस कैंप काउंसलिंग के सहयोग से दुनिया का सामना करने के लिए आत्मविश्वास की प्राप्ति हुई, साथ ही काफी ज्ञान भी अर्जित किया हैं। आत्मरक्षा प्रशिक्षण ने उनमें विश्वास जगाया है कि वे किसी भी कठिन परिस्थितियों से आसानी से निपट सकते हैं। सुधा अय्यर और एस.ए. खान द्वारा हर वर्ष  इन कक्षाओं का आयोजन कराया जाता है, जिसको बच्चे काफी पसंद करते हैं ।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In कुछ हट के

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अफगानिस्तानी दूतावास के साथ फैशन, फूड और कल्चर को बढ़ाने के लिए सीडी फाउंडेशन ने किया कॉफी मार्निंग का आयोजन

‘अफगानिस्तान के राजदूत ताहिर कादरी ने की शिरकत’। ‘अफगानिस्तान के आजादी के सौ स…