Home दिल्ली ख़ास कला/साहित्य / संस्कृति पीएम मोदी ने परीकुल को भेंट की स्वहस्ताक्षरित घड़ी और परीक्षा पर एक पुस्तक

पीएम मोदी ने परीकुल को भेंट की स्वहस्ताक्षरित घड़ी और परीक्षा पर एक पुस्तक

0 second read
0
1
48
  • मिलकर दिया सम्मान, मोदी से पूछा शिव भक्ति का राज!!

नई दिल्ली : राष्ट्रीय बाल शक्ति पुरस्कार से सम्मानित परीकुल भारद्वाज की शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात हुई। पीएम ने सभी पुरस्कृत बच्चों को उज्वल और सफल भविष्य की शुभकामनाएं दीं और कहा कि कहा की दिन मे कम से कम चार बार पसीना जरूर बहाना चाहिए।इस मौके पर पीएम ने परीकुल को स्वहस्ताक्षरित घड़ी और परीक्षा पर एक पुस्तक भेंट की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज परीकूल भारद्वाज, राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2020 विजेता को प्रधानमंत्री निवास पर बुलाकर सम्मानित किया और बातचीत भी की। प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान, विस्तार से परीकूल ने अपनी विशेष उपलब्धियों के बारे में बताया और अपनी आकांक्षाएं मोदी के साथ साझा कीं। प्रधानमंत्री ने उनकी उपलब्धियों के लिए बधाई दी और उनकी प्रशंसा की। गणतंत्र दिवस पर परिकूल को आर्मी की ओपन जिप्सी में भी राजपथ पर भी बुलाया गया है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जब परीकुल भारद्वाज से मिले और उसकी उपलब्धियों के विषय में पूछा। परीकुल ने प्रधानमंत्री को बताया कि मैं पिछले तीन वर्षों से हाई आॅल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस की टीम के साथ श्री केदारनाथ धाम में दे सेवा रही हूं। भारद्वाज ने उन्हें बताया कि ऊंचे पर्वतीय क्षेत्रों में यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं को कम से कम जोखिम को सामना करना पड़े इसके लिए कई भविष्य की योजनाओं पर कार्य कर रही हूं। 13 वर्षीय छात्रा द्वारा किए जा रहे साहसिक सामाजिक कार्य के लिए पीएम मोदी ने परीकुल को शुभकामनाए दीं। लगातार तीन वर्षों से परिकूल अपने ग्रीष्मावकाश के दौरान, हिमालय की ऊंची चोटियों पर निस्वार्थ रूप से प्रतिवर्ष 45 दिनों तक केदारनाथ के दर्शनों के लिए आए तीर्थ यात्रियों की 14000 फीट पर माइनस 7 डिग्री तापमान में अथक सेवा प्रदान करती हैं । राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने 22 जनवरी को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार देकर परीकूल को राष्ट्रपति भवन में समानित किया है!

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन पुरस्कारों से बहादुर बच्चों को जानने का अवसर मिलता है और ये पुरस्कार दूसरों के लिए प्रेरणा का काम करते हैं। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे अपने लक्ष्य में पूरी मेहनत से काम करें, और दिन मे कम चार बार पसीना जरूर निकाले।परिकूल ने प्रधानमंत्री मोदी का ऑटोग्राफ भी लिया पिछले वर्ष मोदी केदारनाथ में गुफा में रुके और सिक्स सिग्मा के डॉक्टरो ने उनका स्वास्थ्य देखभाल भी किया था! यात्रा के बाद मोदी विशेषरूप से सिक्स सिग्मा टीम लीडर डॉ प्रदीप भारद्वाज से भेंट की थी।
हर्ष व्यक्त करते हुए उनके पिता डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने कहा, ‘बेटी परिकुल हाई ऐल्टिटूड में सामाजिक कार्यों में सबसे कम उम्र में सबसे अलग काम किया है।यह अवार्ड एक अच्छे विचार व संस्कार का रिजल्ट है। परिकुल की माँ अनिता भारद्वाज ने कहा की बेटी ने पूरे परिवार व देश का मान बढ़ाया है, आज समस्त राष्ट्र परिकुल एवम् उनके परिवार को सलाम करता है और उन पर गर्व अनुभव करता है। ध्यातव्य है कि उनके अभिभावक एवं उनके दादा दादी ही सदैव उनके प्रेरणा स्त्रोत रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In कला/साहित्य / संस्कृति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

असीम शांति एवं सुख का अनुभव कराता है, ‘भ्रामरी प्राणायाम’

योगाचार्य (डॉ.) राजेश कुमार साहा भ्रामरी प्राणायाम : जिस प्रकार भंवरा गुंजन क्रिया करता है…