Home खबरें नवरात्रि उपासना के तीसरे दिन करें, माता चंद्रघंटा की पूजा

नवरात्रि उपासना के तीसरे दिन करें, माता चंद्रघंटा की पूजा

0 second read
0
2
19

पिण्डजप्रवरारूढा, चण्डकोपास्त्रकैर्युता।

प्रसादं तनुते महस्यं, चन्द्रघण्टेति विश्रुता।।

मां दुर्गा के तीसरे रूप का नाम है चंद्रघंटा। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन में इन्हीं के विग्रह का पूजन किया जाता है। इनका यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी है। इनके मस्तक में घंटे के आकार का अर्धचन्द्र होने के कारण इन्हें चंद्रघंटा देवी कहा जाता है। मां की मुद्रा सदैव युद्ध के लिए अभिमुख रहने से भक्तों के कष्ट का निवारण शीघ्र कर देती है। इनका वाहन सिंह है, अतः इनका उपासक सिंह की तरह निर्भय हो जाता है। इनके धंटे की ध्वनि सदा भक्तों की प्रेत-बाधादि से रक्षा करती है। मां चंद्रघंटा के उपासक जहां भी जाते हैं, लोग उन्हें देखकर शांति और सुख का अनुभव करते हैं। नवरात्र के तीसरे दिन साधक का मन मणिपुर चक्र में प्रविष्ट होता है। इनकी अराधना सद्यः फलदायी है।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

“ओटीटी पर मलयालम इंडस्ट्री की पहुंच बहुत बड़ी है। मैं उत्साहित और बहुत आभारी महसूस कर रही हूं”,अदिति राव हैदरी ने अमेज़ॅन प्राइम वीडियो पर रिलीज़ हो चुकी अपनी फिल्म ‘सूफ़ीयम सुजातयुम’ के बारे में किया साझा!

‘सूफ़ीयम सुजातयुम’ को 3 जुलाई, 2020 में अमेज़ॅन प्राइम वीडियो पर रिलीज़ कर दिय…