Home खबरें मिलाग्रो ने बैक मसाजिंग रोबोट व्हीमे 2020 के लॉन्च के साथ क्राउडफंडिंग में प्रवेश किया

मिलाग्रो ने बैक मसाजिंग रोबोट व्हीमे 2020 के लॉन्च के साथ क्राउडफंडिंग में प्रवेश किया

4 second read
0
1
14
  • कुछ ही दिनों में बाजार में उपलब्ध होने के लिए तैयार कंज्यूमर रोबोटिक्स ब्रांड अपने बिजनेस को बढ़ाने और क्राउंडफंडिंग विधियों के माध्यम से सप्लाई चेन की निरंतरता सुनिश्चित करने का लक्ष्य

 नई दिल्ली : कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए व्यवसाय और लोग जीवन जीने के सामान्य तरीकों में बदलाव कर रहे हैं और इसके मद्देनजर भारत के नंबर-1 कंज्यूमर रोबोटिक्स ब्रांड मिलैग्रो ने अपने रोबोटिक बैक मसाज व्हीमे 2020 के लॉन्च के साथ क्राउडफंडिंग में प्रवेश किया है। यह प्रोडक्ट 14 मई 2020 से कंपनी की वेबसाइट www.milagrowhumantech.com पर  उपलब्ध होगा। 

45 डिग्री से कम के कोण पर ग्रिप और गिरने से होने वाले नुकसान से बचने के लिए टिल्ट सेंसर तकनीक से लैस मिलाग्रो व्हीमे 2020 धीरे-धीरे मसाज करता है और उन लोगों के लिए अत्यधिक प्रभावी है जिन्हें पीठ दर्द की समस्या है। इस मसाजर की मूल रूप से कीमत 11,990 रुपए रखी गई थी। मिलैग्रो अब क्राउडफंडिंग का लाभ उठा रहा है, ताकि इसे 2,990 रुपये में बेचा जा सके। क्राउडफंडिंग 19 मई से शुरू होने वाले एक सप्ताह के लिए लोगों के लिए खुली रहेगी और 25 मई को ऑनलाइन ऑर्डर बंद हो जाएंगे। मिलैग्रो का लक्ष्य 15 दिनों में प्रोडक्ट डिलीवर करना है।

रोलिंग मोशन के साथ संचालित व्हीमे दुनिया का पहला रोबोटिक मसाजर है जो तीन अलग-अलग सेटिंग्स के साथ आता है और यूजर उनमें से किसी एक का चुनाव कर सकता है।

लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए मिलाग्रो रोबोट्स के संस्थापक, अध्यक्ष राजीव करवाल ने कहा, ऐसे समय में जब हमें खुद को और अपने प्रियजनों को सुरक्षित रखने के लिए घर के अंदर रहने की आवश्यकता है, व्हीमे 2020 पीठ दर्द और अन्य मांसपेशियों में दर्द अनुभव करने वालों के लिए व्यक्तिगत फिजियोथेरेपिस्ट के रूप में कार्य करेगा। महामारी ने सभी वर्टिकल्स में व्यवसाय को प्रभावित किया है और कई तरीकों से जीने के तरीकों को प्रभावित किया है। क्राउडफंडिंग मॉडल के माध्यम से हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि बाधित सप्लाई चेन जल्द बहाल हो जाए और मूल्य सीमा को कम किया जाए।”

उन्होंने कहा कि “रोबोट महामारी के बाद की दुनिया में हमारे रोजमर्रा के जीवन का अनिवार्य हिस्सा बन जाएगा, फिर चाहे बात घरेलू कामों के लिए हो या व्यावसायिक वातावरण में दोहराव वाले काम। रोबोट खरीदने की इच्छा रखने वाले अधिकांश लोगों के लिए कीमत बाधा बन सकती है। क्राउडफंडिंग हमें उद्योग को विकसित करने और एडवांस टेक्नोलॉजी की मदद से उपयोगी प्रोडक्ट बनाने में मदद करेगी। हम जल्द ही इस प्लेटफॉर्म पर और भी लॉन्च घोषित करेंगे।”

2007 से संचालित मिलैग्रो भारत में कंज्यूमर रोबोटिक्स उद्योग में सबसे आगे है। इसके “ह्यूमन टेक” डिवीजन ने खास तौर पर भारत के लिए रोबोट लॉन्च किया है और इसमें कई ऐसी उपलब्धियां हैं जो भारत में पहली बार पेश की गई है। इनमें एआई पॉवर्ड फ्लोर क्लीनिंग रोबोट शामिल है, जो पूरी तरह से स्वतंत्र नेविगेशन से सफाई करता है। साथ ही कोविड वायरस को भी मार सकता है। यह ह्यूमनॉइड भी है जो डॉक्टरों को अपने मरीजों से वर्चुअल उपस्थिति के जरिये बात करने की अनुमति देता है।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

लोगों ने दिखाई क्रूरता गर्भवती भूखी हथिनी को खिलाया पटाखों से भरा अनानास

हथिनी और उसके बच्चे की हुई तड़प-तड़पकर हुई मौत तिरुवनंतपुरम : केरल के मलप्पुरम जिले में कुछ …