Home खबरें न्यू ई-चालान सिस्टम और ऑनलाईन भुगतान सिस्टम का शुभारंभ

न्यू ई-चालान सिस्टम और ऑनलाईन भुगतान सिस्टम का शुभारंभ

16 second read
2
3
133

दिल्ली पुलिस कमिश्नर श्री अमूल्य पटनायक दिल्ली पुलिस हेडक्वॉटर में ‘न्यू ई-चालान सिस्टम और ऑनलाईन भुगतान सिस्टम’ का शुभारंभ करते हुए, साथ में हैं-डीजी (एनआईसी) डॉ. नीता वार्मा और स्पेशल टै्रफिक सीपी श्री ताज हसन।

नई दिल्ली : पुलिस आयुक्त, दिल्ली ने दिल्ली यातायात पुलिस के उपयोग के लिए ‘नई ई-चालान प्रणाली और ई-भुगतान’ प्रवेश द्वार का उद्घाटन किया है। उद्घाटन समारोह में स्पेशल सीपी/ट्रैफिक श्री ताज हसन, डीजी/डॉ. नीता वर्मा और दिल्ली पुलिस और एनआईसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पुलिस आयुक्त, दिल्ली ने अपने वक्तव्य में कहा कि इस राज्य की कार्य प्रणाली यातायात उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ अभियोजन में सुधार लाने और बेहतर सड़क सुरक्षा नियमों को बनाने में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों के लिए महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगी।

दिल्ली पुलिस आयुक्त ने यातायात पुलिस में प्रौद्योगिकी आधारित प्रणालियों को बढ़ाने की बढ़ती आवश्यकताओं का भी संकेत दिया, उन्होंने उन महत्वाकांक्षी परियोजनाओं के बारे में जानकारी दी, जो निकट भविष्य में चालू होने के अंतिम चरण में हैं। ई-चालानिंग प्रणाली इन सभी प्रणालियों को एक समग्र पेशेवर रूप से प्रबंधित अभियोजन और यातायात प्रबंधन प्रणाली में एकीकृत करेगी, जो दिल्ली में सुरक्षित ड्राइविंग स्थितियों को प्राप्त करने के हमारे प्रयासों को महत्वपूर्ण प्रोत्साहन देगा। उन्होंने प्रौद्योगिकी भागीदार एनआईसी को भारत में अभी तक इस वर्ग में अपनी सबसे बड़ी परियोजना शुरू करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि इससे प्रौद्योगिकी की शुरूआत और जनता के लिए एक और अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल इंटरफेस देने के लिए एक प्राथमिकता उद्देश्य होना जारी रहेगा और भविष्य के सभी प्रयासों में सुविधा होगी।

ई-चालान परियोजना को प्रौद्योगिकी भागीदारों के रूप में एनआईसी द्वारा जनतदामल समाधान के रूप में वितरित किया जाता है। ई-चालान प्रणाली पूरी तरह से एकीकृत सॉफ्टवेयर आवेदन के साथ नवीनतम उपकरणों और एंड्रॉयड आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ काम करेगी। यह प्रणाली एनआईसी द्वारा दिल्ली पुलिस से महत्वपूर्ण परिचालन और कानूनी जानकारी के साथ विकसित की गई है। इस कार्य को पूरा करने वाली एक संचालन समिति में व्यापक डोमेन ज्ञान के साथ दिल्ली यातायात पुलिस और एनआईसी के विशेषज्ञ हैं। प्रणाली की शुरुआत में 1000 हैंड आयोजित उपकरणों के साथ शुरू किया गया है, जिसका आगे भी विस्तार किया जाएगा। अभी इस परियोजना को तीन वर्षों के लिए चालू किया गया है और प्रौद्योगिकी समीक्षा के बाद आवश्यकता के आधार पर इसका विस्तार किया जाएगा। यह परियोजना पूरी तरह से गृह मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है।

इस सिस्टम में ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन स्वामित्व का पूरा डाटाबेस अब NIC पर उपलब्ध है। ‘वाहन’ और ‘सारथी’ एप्लिकेशन इन दो महत्वपूर्ण डेटाबेस तक पहुंच प्रदान करते हैं। एनसीआरबी डेटाबेस के लिए ऑनलाइन कनेक्टिविटी से चालान अधिकारियों द्वारा पकड़े जाने पर मौके पर चोरी के वाहनों को बरामद करना संभव हो जाएगा। वाहन से संबंधित महत्वपूर्ण पैरामीटर ऑनलाइन उपलब्ध होंगें।

यह डिवाईस 4G compliant एंड ड्यूल सिम एंड केस लोडेड फीचर्स पर आधारित है। यह औद्योगिक ग्रेड डिवाइस दिल्ली के विपरीत मौसम को बर्दाश्त करने में सक्षम है। यह फिंगरप्रिंट बॉयोमीट्रिक कैप्चरिंग क्षमता के साथ लैस है। इसमें कार्ड रीडर सिस्टम है, जिसके द्वारा लाइसेंस या पंजीकरण का पूरा ब्यौरा दिख जाएगा। और इसके द्वारा डेबिट/क्रेडिट कार्ड रीडर से सुविधाजनक रूप से डिजिटल भुगतान भी हो जाएगा। ई-चालान उपकरणों को सक्रिय जीपीएस के साथ सक्षम किया जाता है, जहां चालान अधिकारी और उल्लंघनकर्ता, दोनों को एक विशेष स्थान पर लॉग इन किया जा सकता है। अभियोजन पक्ष की विश्वसनीयता स्थापित करने के लिए साक्ष्य के रूप में यह महत्वपूर्ण उपकरण है। कैमरा उल्लंघन ऐप आदि जैसे तकनीकी अभियोजन के अन्य सभी तरीके भी ई-चालान प्रणाली से जुड़े होते हैं, ताकि डेटा को नियमित रूप से अध्ययन किया जा सके और वास्तविक समय के आधार पर एनआईसी को भेजा जा सके। अब दिल्ली में चालान अधिकारियों को तुरंत वाहन/ड्राइवर के उल्लंघन की पूरी जानकारी मिल जाएगी।

Spl.CP/Traffic श्री ताज हसन ‘न्यू ई-चालान सिस्टम और ऑनलाईन भुगतान सिस्टम’ की खूबियों के बारे में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए।

भारतीय स्टेट बैंक के सहयोग से एनआईसी ने इलेक्ट्रॉनिक मोड के माध्यम से भुगतान की प्रणाली के लिए अनिवार्य लेखा परीक्षा और सुरक्षा जांच की है। इस विषय पर सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार भुगतान सुरक्षा प्रणालियों और प्रक्रियाओं का पालन किया गया है। ई-चालानिंग की पूरी प्रणाली आंकड़ों की सुरक्षा और संरक्षा के लिए उद्योग मानकों का पालन करती है।  आपदा वसूली के लिए उपयुक्त उपाय किए गए हैं। चालान अधिकारी एचएचडीएस में ऑनलाइन वाहनों के बीमा और प्रदूषण का डेटा देख सकते हैं। यह सुविधा वाहन पहचान पत्र स्थापित करने में जनता की मदद करेगी और साथ ही चालान अधिकारी को मौके पर मौजूद फर्जी दस्तावेजों को देखने की सुविधा प्रदान की जाएगी।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर श्री अमूल्य पटनायक दिल्ली पुलिस हेडक्वॉटर में ‘न्यू ई-चालान सिस्टम और ऑनलाईन भुगतान सिस्टम’ के शुभारंभ अवसर पर डीजी (एनआईसी) डॉ. नीता वार्मा को स्मृति चिह्न भेंट करते हुए।

यह प्रणाली डिजीलॉकर अनुरूप दस्तावेजों को स्वीकार करने में सक्षम है, जैसे ड्राइवर का लाइसेंस और अन्य दस्तावेजों के अलावा वाहनों का पंजीकरण। यह डिजिलॉकर सुविधा परेशानी मुक्त बातचीत के साथ जनता की मदद करेगी, क्योंकि दस्तावेज़ की प्रामाणिकता पूर्व सत्यापित की जाएगी। पारगमन में दस्तावेजों के नुकसान के उदाहरण काफी कम हो जाएंगें। इसके परीक्षण के दौरान नए ई-चालान उपकरणों का उपयोग करते हुए 60,3503 चालान जारी किए गए थे, जिसके परिणामस्वरूप लगभग 9.5 करोड़ रुपए की समझौता राशि एकत्र की गई थी।

दिल्ली यातायात पुलिस के भुगतान गेटवे के रूप में एक साथ और सक्षम तकनीकी पहल की गई है।  उल्लंघनकर्ता को भेजे गए एसएमएस नोटिस में उल्लंघन का विवरण और इसे सत्यापित करने के लिए नीचे लिंक शामिल है। उल्लंघनकर्ता अपनी संतुष्टि करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

https://delhitrafficpolice.nic.in

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In खबरें

2 Comments

  1. gx tool pro for pubg uc

    August 16, 2019 at 4:59 pm

    I’ve been surfing online more than 3 hours today, yet I never found any interesting article like yours. It is pretty worth enough for me. Personally, if all web owners and bloggers made good content as you did, the web will be a lot more useful than ever before.

    Reply

    • admin

      August 17, 2019 at 3:14 pm

      Thanks

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

अफगानिस्तानी दूतावास के साथ फैशन, फूड और कल्चर को बढ़ाने के लिए सीडी फाउंडेशन ने किया कॉफी मार्निंग का आयोजन

‘अफगानिस्तान के राजदूत ताहिर कादरी ने की शिरकत’। ‘अफगानिस्तान के आजादी के सौ स…