Home खबरें राजनीति मोदी पार्टी में चर्चा के बाद ही लेते है कोई निर्णय : पाटिल

मोदी पार्टी में चर्चा के बाद ही लेते है कोई निर्णय : पाटिल

0 second read
0
0
69
  • वन्दना विश्वकर्मा

गुजरात में नवसारी से सांसद सी आर पाटिल ने इन आरोपों को गलत बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ़ैसले लेने की प्रक्रिया में पार्टी के नेताओं को शामिल नहीं करते है, और वे खुद को पार्टी से ऊपर मानते है।

श्री पाटिल ने हमारी वरिष्ठ संवाददाता वन्दना विश्वकर्मा से सूरत में विशेष साक्षात्कार में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोई भी फैसला करने से पहले पार्टी के प्रमुख नेताओं से विचार विमर्श अवश्य करते हैं और उसके बाद ही कोई निर्णय लेते है उन्होंने इस आरोप को भी गलत बताया कि श्री मोदी खुद को पार्टी से ऊपर मानते है, उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सभी को साथ लेकर चलने में विश्वास रखते है। पार्टी में जब कोई व्यक्ति सभी का विश्वास हासिल कर लेता है तो पार्टी में वह व्यक्ति प्रमुख बन ही जाता है इससे यह नही माना जाना चाहिए कि वह पार्टी से ऊपर है। इस तरह के आरोप कांग्रेस और अन्य विपक्षी दल लगाते रहे है जबकि कांग्रेस में भी किसी समय जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गांधी का वर्चस्व था।

सरकार पर मूर्तियां बनाने में करोड़ो अरबों रुपये खर्च करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिन हस्तियों पर लोगों की श्रद्धा और विश्वास होता है, उनकी मूर्तियां बनाने में कोई बुराई नही है ऐसे महान शख्सियतों से लोगों को प्रेरणा मिलती है सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि देश विदेश का कोई भी व्यक्ति ऐसा नही है जो सरदार पटेल की देश भक्ति पर सवाल उठा सके ,उन्होंने देश के लिए जो कार्य किया है वह अतुलनीय है, इसलिए उनकी प्रतिमा का आकार भी उनके  राजनीतिक कद और प्रतिभा के हिसाब से बनाई गई है।

प्रोपर्टी में आई मंदी के प्रश्न पर श्री पाटिल ने कहा कि सरकार द्वारा हर व्यक्ति को सस्ती कीमत पर आवास उपलब्ध कराने की योजनाओं से आम आदमी को फायदा हुआ है आज जो  मकान सरकारी सहायता से 5 लाख में मिल जा रहा है उसे खरीदने के लिए बिल्डरों को 25 लाख यानी 5 गुना कीमत अदा करनी पड़ती थी ।

सूरत में सड़कों की स्थिति खराब होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि भारी बारिश के कारण सड़के कुछ बदहाल जरूर हो जाती है लेकिन अन्य राज्यों के शहरों की सड़कों की  स्थिति की तुलना में फिर भी बेहतर है हमने खराब सड़के बनाने वाले कुछ ठेकेदारों को ब्लैकलिस्ट भी किया है और सड़कों की स्थिति सुधारने का काम अन्य क़ाबिल ठेकेदारों को सौंपा जाएगा।

पार्टी द्वारा प्रचार प्रसार पर अत्यधिक खर्च किये जाने के आरोप पर किये गए सवाल पर श्री पाटिल ने कहा कि सरकार ने अनेक जनकल्याणकारी योजनायें शुरू की है जिनका लाभ देने के लिए लोगो को जानकारी और जागरूक करना आवश्यक है, यदि इन योजनाओं का प्रचार प्रसार नही होगा तो लोग उनका लाभ लेने से वंचित रह जाएंगे, इसलिए इन योजनाओं के प्रचार प्रसार पर धन खर्च करना कोई अपव्यय नही है।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने  के बाद वहाँ के लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने के प्रयासों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पहले जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा हासिल था जिसकी वजह से वहाँ आतंकवाद की समस्या ने जड़े जमा ली थी, अन्य राज्यों के लोगों को वहाँ की सम्पत्ति खरीदने का अधिकार नहीं था और आतंकी हमलों के कारण लोग वहाँ जाने में हिचकिचाते थे लेकिन अब वहां पर्यटन का विकास होगा और अन्य राज्यों के लोग भी वहाँ जमीन खरीद सकेंगे, बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा, इन सब गतिविधियों से जम्मूकश्मीर के लोग राष्ट्र की मुख्यधारा से जुड़ते चले जायेंगे।

Load More Related Articles
Load More By admin
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

The Plastics Export Promotion Council unveils PLEXCONCIL mobile app with Buyer-Seller Connect for exporters

First-of-its-kind Buyer-Seller Connect on a 24X7 basis for all plastics exporters Every ex…